National symbols of India : भारत के राष्ट्रीय चिन्ह

Share With Friends

क्या आपको पता है National symbols of India : भारत के राष्ट्रीय चिन्ह कौन-कौन से हैं अगर नहीं पता तो इस पोस्ट को पूरा देखें जिसमें हमने आपको राष्ट्रीय चिन्ह के बारे में समस्त जानकारी हिंदी भाषा में उपलब्ध करवाई है प्रत्येक विद्यार्थी को यह सामान्य जानकारी पता होनी चाहिए इसलिए आप इन्हें एक बार अच्छे से जरूर पढ़ें

.

चाहे स्कूल के छात्र हो या कॉलेज के या फिर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हो आपको एक बार इन्हें जरूर पढ़ना है और अच्छे से याद करना है हो सकता है आगामी परीक्षाओं में आपके यहां से कोई ना कोई प्रश्न देखने को मिले

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

राष्ट्रीय चिन्ह के बारे में जाने

राष्ट्रीय प्रतीक

भारत का राष्ट्रीय प्रतीक सारनाथ स्थित अशोक के सिंह स्तम्भ के शीर्ष भाग की अनुकृति है। भारत सरकार ने इसे 24 जनवरी, 1950 ई. को अपनाया। प्रतीक के नीचे मुंडकोपनिषद में लिखा सूत्र ‘सत्यमेव जयते’ देवनागरी लिपि में अंकित है।

राष्ट्रीय ध्वज

तीन पट्टियों वाला तिरंगा, गहरा केसरिया (ऊपर), सफेद (बीच) और गहरा हरा रंग (सबसे नीचे) है। सफेद पट्टी के बीच में नीले रंग का चक्र है जिसमें 24 तीलियाँ हैं। यह अशोक के स्तम्भ पर बने धर्मचक्र का प्रतीक है। ध्वज की लम्बाई एवं चौड़ाई का अनुपात 3 : 2 है। भारत की संविधान सभा ने राष्ट्रध्वज का प्रारूप 22 जुलाई 1947 ई. को अपनाया।

25 जनवरी, 2002 को केन्द्र सरकार द्वारा भारत का नया ध्वज कोड-2002 बनाया गया। यह संशोधित ध्वज कोड 26 जनवरी, 2002 के प्रभाव में आने से अब यह राष्ट्रीय तिरंगा घरों, दफ्तरों, दुकानों की छतों पर लहराया जा सकता है। 23 जनवरी, 2004 को एक महत्वपूर्ण निर्णय में उच्चतम न्यायालय ने यह घोषणा की, कि संविधान के अनुच्छेद-19(1)(अ) के अधीन राष्ट्रीय ध्वज फहराना नागरिकों का मूल अधिकार है।

राष्ट्रगान ( National Anthem )

रवीन्द्रनाथ ठाकुर की रचना गीतांजलि में रचित द्वारा रचित ‘जन-गण-मन’ को संविधान सभा ने 24 जनवरी, 1950 ई. को भारत का ‘राष्ट्रगान’ स्वीकार किया। इसके पूर्ण गायन का समय 52 सेकेण्ड तथा अर्द्ध गायन की अवधि 20 सेकण्ड होती है। इसे रवीन्द्रनाथ ठाकुर ने 1912 ई. में ‘तत्त्बबोधिनी’ में प्रकाशित किया था। राष्ट्रगान का अंग्रेजी भाषा में अनुवाद डॉ.अरविन्द घोष ने किया। पहली बार 27 दिसम्बर, 1911 में कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में गाया गया।

राष्ट्रगीत ( National Song )

बंकिमचन्द्र चटर्जी के 1882 में प्रकाशित उपन्यास ‘आनन्दमठ’ में उन्हीं के द्वारा रचित ‘वन्देमातरम्’ को राष्ट्रगीत के रूप में 24 जनवरी, 1950 ई. को स्वीकार किया गया। इसे सर्वप्रथम 1896 ई. में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के कोलकाता अधिवेशन में सरला देवी चौधरानी ने इस अधिवेशन में गाया गया था।

राष्ट्रीय कैलेन्डर

ग्रिगेरियन कैलेन्डर के साथ देश भर के लिए शक संवत् पर आधारित राष्ट्रीय पंचाग को सरकारी प्रयोग के लिए 22 मार्च, 1957 ई. को अपनाया गया। इसका पहला महीना चैत्र है। यह सामान्यतः सामान्य वर्ष में 21 मार्च को एवं लीप वर्ष में 22 मार्च को प्रारंभ होता है।

राष्ट्रीय पशु – भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ (पैंथरा टाइग्रिस-लिन्नायस) है।

राष्ट्रीय पक्षी – मोर (मयूर) भारत का राष्ट्रीय पक्षी है। इसे पावो क्रिस्टेटस भी कहा जाता है।

राष्ट्रीय फूल (पुष्प) – भारत का राष्ट्रीय फूल ‘कमल’ (नेलंबो न्यूसिपरोगार्टन) है।

राष्ट्रीय फल – भारत का राष्ट्रीय फल आम (मेनिगिफेरा इंडिका) है।

राष्ट्रीय पेड़ – भारत का राष्ट्रीय पेड़ बरगद है।

भारत के राष्ट्रीय दिवस

  • 15 अगस्त – स्वतंत्रता दिवस
  • 26 जनवरी – गणतन्त्र दिवस
  • 2 अक्टूबर – गाँधी जयंती (अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस)

भारत के अन्य प्रतीक

राष्ट्र भाषा – हिन्दी

राष्ट्र लिपि – देवनागरी

राष्ट्रीय वाक्य – ‘सत्यमेव जयते’

राष्ट्रीय मुद्रा – रुपया

राष्ट्रीय ग्रन्थ – गीता

राष्ट्रीय मंत्र – ओम

राष्ट्रीय खेल – हॉकी

राष्ट्रीय नदी – गंगा

अगर आपकी जिद है सरकारी नौकरी पाने की तो हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं टेलीग्राम चैनल को अभी जॉइन कर ले

Join Whatsapp GroupClick Here
Join TelegramClick Here

अंतिम शब्द

उम्मीद करते हैं National symbols of India : भारत के राष्ट्रीय चिन्ह के बारे में उपलब्ध करवाए गए नोट्स आपको अच्छे लगे होंगे इसी तरह टॉपिक अनुसार नोट्स इस वेबसाइट पर आपके लिए लेकर आते हैं अगर आपको ऐसे ही नोट्स चाहिए तो इस वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा ग्रुप एवं अपने दोस्तों के पास जरूर शेयर करें

Leave a Comment