Share With Friends

General Science Free Study Material in Hindi परीक्षा चाहे कोई भी हो सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते है और आज हम आपके लिए General Science Class Notes ( 1 ) | रक्त से संबंधित महत्वपूर्ण क्लास नोट्स उपलब्ध करवा रहे है जो आपको आगामी सभी परीक्षाओ में बहुत काम आएंगे हम आपको सामान्य विज्ञान के सभी टॉपिक पर शार्ट नोट्स उपलब्ध करवायेंगे जिससे आपकी तैयारी अच्छी हो सके 

General Science Class Notes ( 1 ) | रक्त से संबंधित महत्वपूर्ण क्लास नोट्स अगर आप UPSC, SSC, BANK, RAILWAY, DEFENCE, TEACHER या अन्य किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो सामान्य विज्ञान के लिए आप हमारे ये नोट्स पढ़ सकते है जिनसे आपको बहुत कुछ सिखने को मिलेगा अगर आपको यह अच्छे लगे तो ऊपर शेयर बटन के माध्यम से इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें 

General Science Class Notes ( 1 ) | रक्त से संबंधित महत्वपूर्ण क्लास नोट्स

रक्त समूह (Blood Group) –


– रक्त समूहों का निर्धारण RBC की सतह पर इनसे संबंधित एंटीजन की उपस्थिति के आधार पर किया जाता है।
– मानवों में दो प्रकार के रुधिर वर्ग पाए जाते हैं।
(i)  A, B, O रुधिर समूह
(ii) AB- रुधिर समूह
– सर्वप्रथम कार्ल लैण्डस्टीनर ने रक्त समूह के बारे में बतायाथा तथा इन्होंने ही A, B तथा O रक्त समूह की खोज की थी।
– AB रक्त समूह के बारे में डी कॉस्टेलो एवं स्टर्ली ने बताया था।
– A, B तथा O रुधिर वर्ग प्रतिजन A या प्रतिजन B की लाल रुधिराणुओं की उपस्थिति के आधार पर होता है।

रक्त समूह, उपस्थित एंटीजन एवं एंडीबॉडी
रक्त समूहउपस्थित एंटीजनउपस्थित एंटीबॉडी
AAb
BBa
ABABएंडीबॉडी अनुपस्थित
ORBC पर एंटीजन अनुपस्थितप्लाज्मा में a व b दोनों एंटीबॉडीज पाई जाती है।

Rh कारक (Rh-Factor) –


– Rh-एंटीजन की खोज कार्ल लैण्ड स्टीनर तथा वीनर ने मकाका रीसस प्रजाति के बंदर में की थी तथा इसे Rh कारक कहा, जिसमें Rh-एंटीजन उपस्थित हो, उसे Rh+ तथा Rh एंटीजन अनुपस्थित हो, तो इसे Rh कहते हैं।
– ORh+ रुधिर वर्ग के लोग सार्वत्रिक दाता तथा ABRhवाले सार्वत्रिक ग्राही होते हैं।
– A, a तथा B, b (एंटीजन, एंटीबॉडी) कभी न मिलने चाहिए, इसी कारण रक्ताधान संभव नहीं हो पाता है।
– RBC की सतह पर रक्त समूह के एंटीजन Þ एग्लूटिनोजन (Aglutinogons)
– रक्त प्लाज्मा में रक्त समूह से संबंधित एंटीबॉडीज Þ एग्लूटिनिन्स (Aglutinins)
– यदि गलत रक्त समूह का रक्त किसी व्यक्ति के शरीर में डाल दिया जाता है, तो एग्लुटिनेशन (Aglutination) की क्रिया होती है, जिसमें RBC की सतह चिपचिपी होने से ये आपस में चिपक जाती है, ऐसे में रक्त RBC के गुच्छे बन जाते हैं तथा गैसीय परिवहन प्रभावित होता है।

– एन्टीकोगूलेन्ट – प्लाज्मा में एक मजबूत विषमपॉलीसैकेराइड अधिक रुधिर का थक्का नहीं जमने देता इसे हिपेरिन भी कहते हैं।

महत्त्वपूर्ण तथ्य –


– यदि नर Rh+ve तथा मादा Rhve हो तो इनके मध्य होने वाले विवाह को जैविक रूप से निषेध माना जाता है।
– O रक्त समूह सार्वत्रिक दाता है।
– AB+ रक्त समूह सार्वत्रिक ग्राही है।
– रक्त समूह O में RBC पर एंटीजन नहीं पाई जाती है।
– रक्त समूह AB में किसी भी प्रकार की एंटीबॉडी नहीं पाई जाती है।

रक्त का आदान-प्रदान/रक्ताधान (Blood Transfusion)


– विश्व में सर्वप्रथम रक्त का आदान-प्रदान 15 जून, 1667 को डॉ. जीन डेविस द्वारा फ्रांस में किया गया।
– 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस (World Blood Donor Day) मनाया जाता है।

Latest Post ( इन्हे भी पढ़े )

General Science Handwritten Notes ( Drishti Ias ) Pdf Download | सामान्य विज्ञान हस्तलिखित नोट्स

Ncert Indian Geography Notes Pdf in Hindi | भारत का भूगोल

Indian Polity Classroom Notes in Hindi Pdf | भारतीय राजव्यवस्था नोट्स

अंतिम शब्द : आपको सपोर्ट और प्यार ही हमारी ताकत है अगर है आपको General Science Class Notes ( 1 ) | रक्त से संबंधित महत्वपूर्ण क्लास नोट्स अच्छे लगे तो इसे ऊपर दिए गए शेयर बटन के माध्यम से अपने दोस्तों/ग्रुप में जरूर शेयर करे एवं नीचे कमेंट करके जरूर बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी