Saurmandal in Hindi : सौर मंडल से संबंधित नोट्स

Saurmandal in Hindi : सौर मंडल से संबंधित नोट्स
Share With Friends

अगर आप किसी भी कंपटीशन परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो जब भी आप भूगोल विषय को पड़ेंगे तो उसने आपको सौरमंडल पढ़ने को मिलेगा आज हम इस पोस्ट में आपको Saurmandal in Hindi : सौर मंडल से संबंधित नोट्स उपलब्ध करवा रहे हैं क्योंकि ऐसे नोट्स जो आपको किताबों में कहीं नहीं मिलते हैं

 इसलिए कम समय में अधिक तैयारी के लिए आप इन नोट्स को पढ़ सकते हैं यह निश्चित ही आपको आपकी तैयारी के लिए काम आएंगे

Join whatsapp Group

Saurmandal in Hindi : सौर मंडल से संबंधित नोट्स

सौर मण्डल :-

–        140 AD में यूनानी भूगोलवेत्ता क्लोडियस टोल्मी ने पृथ्वी केन्द्रित संकल्पना प्रस्तुत की।

–    153 AD में निकोलस कॉपरनिकस ने सूर्य केन्द्रित संकल्पना प्रस्तुत की।

–    1609 AD में गैलीलियों ने Telescoep की सहायता से ब्रह्माण्ड का अध्ययन करने वाला प्रथम विद्वान था।

–    गैलीलियों ने Telescope की सहायता से बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति, शनि की खोज की।

–    ब्रिटिश खगोल शास्त्री विलयम हर्शेल ने बताया कि हमारा सौर मंडल एक गैलेक्सी का छोटा सा अंश है।

–    विलियम हर्शेल ने Uranus (अरुण) ग्रह की खोज की।

–    एडविन पॉवेल हब्बल के अनुसार ब्रह्माण्ड लगातार फैल रहा है।

–    ब्रह्माण्ड की उत्पत्ति से संबंधित सिद्धांत :-

      1. महाविस्फोट सिद्धांत – आर्ज लैमेनटर

–    महाविस्फोट सिद्धांत को ही “Big Bang Theory” भी कहा जाता है।  

–    ब्रह्माण्ड में लगभग 10″ galaries या आकाश गंगाएँ मौजूद है।

–    और प्रत्येक गैलेक्सी में इतनी ही संख्या के तारे मौजूद है।

      कुल तारे = 1011×1011=1022 तारे

–    “लाइमन अल्फा हलॉक्स” ब्रह्माण्ड की सबसे बड़ी गैलेक्सी है।

–    हमारे सौर मण्डल के सबसे नजदीक गैलेक्सी एन्ड्रोमीडा है।

–    ‘मंदाकीनी’ या milky way ये गैलेक्सी सर्पिलाकार गैलेक्सी या Special shope कहलाती है।

–    हमारा सौर मंडल मंदाकिनी गैलेक्सी में स्थित है।

–    ओरियन नेबुला :- हमारी गैलेक्सी का सबसे चमकीला भाग कहलाता है, ये भाग तारों का झुण्ड होता है।

–    प्रोक्सीमा सेन्चुरी :- सौर मण्डल में सबसे नजदीकी तारा है।

–    सीरियस/डॉगस्टार :- हमारी गैलेक्सी का सबसे चमकीला तारा है।     

–    ध्रुव तारा/North Star/Polistar – ये तारा सदैव उत्तर दिशा में चमकता है।

–        हमारा सौरमण्डल :-

–    सौरमण्डल में सूर्य, ग्रह, उपग्रह, क्षुद्र ग्रह, उल्का पिण्ड, धूमकेतु, धूलकण तथा गैसे पायी जाती है।

         सूर्य :-

–    सूर्य हमारे C=3×108 m/s है।

–    सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुँचने में लगभग 8 मिनट तथा 18 सैकेण्ड या लगभग (500 सैकेण्ड) का समय लगता है।

–    सूर्य की ऊर्जा का स्त्रोत नाभिकीय सलयन (Nuclear Furior) क्रिया है।

      1H2+”2He4+ऊर्जा  

–    सूर्य पर गैसे :-

      1. हाइड्रोजन – 71%

      2. हीलियन – 26.5%

      3. अन्य गैसें – 2.5%

–    सूर्य की कुल आयु – 10 बिलियन वर्ष

–    सूर्य की वर्तमान आयु – 5 बिलियन वर्ष 

–    सूर्य का चमकीला भाग – प्रकाश मण्डल (Photosphere) कहलाता है।

–    सूर्य का बाहरी भाग कोरोना (Corona)/किरीट, जिसका तापमान 6000 0 C है।

–    सूर्य का आन्तरिक भाग क्रोड (Core), जिसका तापमान लगभग 150 लाख 0 C होता है।

–    सूर्य के प्रकाश मण्डल में दो घटनाएँ दिखाई देती है।

–    सौर चक्र को बनने में 22 वर्ष का समय लगता है।

–    सूर्य का आयतन पृथ्वी से 13 लाख गुना अधिक है।-    सूर्य का गुरुत्वाकर्षण बल-पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से 28 गुना अधिक है।  

Download Full Notes PDF……

Click & Download Pdf

अगर आपकी जिद है सरकारी नौकरी पाने की तो हमारे व्हाट्सएप ग्रुप एवं टेलीग्राम चैनल को अभी जॉइन कर ले

Join Whatsapp GroupClick Here
Join TelegramClick Here

अंतिम शब्द

General Science Notes ( सामान्य विज्ञान )Click Here
Ncert Notes Click Here
Upsc Study MaterialClick Here

हम आपके लिए Saurmandal in Hindi : सौर मंडल से संबंधित नोट्स ऐसे ही टॉपिक वाइज Notes उपलब्ध करवाते हैं ताकि किसी अध्याय को पढ़ने के साथ-साथ  आप हम से बनने वाले प्रश्नों के साथ प्रैक्टिस कर सके अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *